Home » भजन: भजहु रे मन श्री नंद नंदन – Bhajan: Yashomati Nandan Brijwar Nagar | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

भजन: भजहु रे मन श्री नंद नंदन – Bhajan: Yashomati Nandan Brijwar Nagar | भारत की अग्रणी गीत गीत साइट

भजन: भजहु रे मन श्री नंद नंदन – Bhajan: Yashomati Nandan Brijwar Nagar | गाने के बोल हर दिन अपडेट होते हैं


भजहु रे मन श्री नंद नंदन: भजन

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे
दुर्लभ मानव-जन्म सत-संगे
तारो ए भव-सिंधु रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे

शीत तप बात बरिशन
ए दिन जामिन जगी रे
बिफले सेविनु कृपन दुरजन
चपल सुख लभ लागी रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे

ए धन यौवन पुत्र परिजन
इथे की आचे पारतित रे
कमल-दल-जल, जीवन तलमल
भजू हरि-पद नीत रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे

श्रवण कीर्तन स्मरण वंदन
पद सेवन दास्य रे
पूजन, सखी-जन, आत्म-निवेदन
गोविंद-दास-अभिलाषा रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे
दुर्लभ मानव-जन्म सत-संगे
तारो ए भव-सिंधु रे

भक्ति-भारत सभी भक्तों के लिए भगवान कृष्ण का यह प्रसिद्ध भजन प्रस्तुत कर रहा है। आइये अपनी दैनिक दिनचर्या में भजनों को सम्मलित करें।

यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBrij BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanLaddu Gopal BhajanRadhashtami BhajanPhalguna BhajanIskcon BhajanShri Shyam BhajanVarsha Shrivastava Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!


इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites


* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें।

और भी बेहतरीन गाने के बोल यहां देखें: india.xemloibaihat.com/lyric

विषय से संबंधित खोजें भजन: भजहु रे मन श्री नंद नंदन – Bhajan: Yashomati Nandan Brijwar Nagar

#भजन #भजह #र #मन #शर #नद #नदन #Bhajan #Yashomati #Nandan #Brijwar #Nagar

भजन: भजहु रे मन श्री नंद नंदन – Bhajan: Yashomati Nandan Brijwar Nagar

India.xemloibaihat.com आशा है कि यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी मूल्य लेकर आई है।

आपका बहुत बहुत धन्यवाद

समीक्षा भजन: भजहु रे मन श्री नंद नंदन – Bhajan: Yashomati Nandan Brijwar Nagar


भजहु रे मन श्री नंद नंदन: भजन

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे
दुर्लभ मानव-जन्म सत-संगे
तारो ए भव-सिंधु रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे

शीत तप बात बरिशन
ए दिन जामिन जगी रे
बिफले सेविनु कृपन दुरजन
चपल सुख लभ लागी रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे

ए धन यौवन पुत्र परिजन
इथे की आचे पारतित रे
कमल-दल-जल, जीवन तलमल
भजू हरि-पद नीत रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे

श्रवण कीर्तन स्मरण वंदन
पद सेवन दास्य रे
पूजन, सखी-जन, आत्म-निवेदन
गोविंद-दास-अभिलाषा रे

भजहु रे मन श्री नंद नंदन
अभय-चरणार्विन्द रे
दुर्लभ मानव-जन्म सत-संगे
तारो ए भव-सिंधु रे

भक्ति-भारत सभी भक्तों के लिए भगवान कृष्ण का यह प्रसिद्ध भजन प्रस्तुत कर रहा है। आइये अपनी दैनिक दिनचर्या में भजनों को सम्मलित करें।

यह भी जानें

Bhajan Shri Krishna BhajanBrij BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanLaddu Gopal BhajanRadhashtami BhajanPhalguna BhajanIskcon BhajanShri Shyam BhajanVarsha Shrivastava Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!


इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites


* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.